Pages

Tuesday, May 15, 2018

Whatsapp Message: 15th May

हरिओम,

वक्ताओं का वक्तत्व बड़ा
या
पूज्य गुरुदेव का सत्संग?

लीगल टीम और आश्रम मैनेजमेंट की नाकामी के बाद, पूज्य गुरुदेव को उम्र कैद की सजा सुनाने के बाद, साधको को पुनः ब्रह्मित करने के लिए आश्रम से वक्ताओं को दुबारा जगह जगह भेजा जा रहा है.

यह वक्त अपने आपको बहुत ही ज्ञानी समझते है. समिति के पैसे से कार और फ्लाइट में घूमते रहते है. ऊपर से दक्षिणा भी लेते है.

एक तरफ गुरूजी ने सिखाया है कि अन्याय सहना दुगना पाप है एवं अन्याय के खिलाफ लड़ना चाहिए।

गुरूजी ने हमें यह भी सिखाया है की हम साधको को बहादुर की तरह कदम अपना आगे बढ़ाते चलना है।

वही दूसरी तरफ यह महाज्ञानी कहलाने वाले वक्ता, जगह जगह जाके साधकों को भ्रमित करते है और शांति का पाठ सिखाते है। इन वक्ताओं के हिसाब से सभी को सिर्फ जप और कीर्तन ही करना है। बाकी जोधपुर केस को और बापूजी को भूल जाये

ये वक्ता निक्कमा रहने का पाठ पढ़ाते हैं जगह जगह जाकर

आखरी में आश्रम की प्रॉपर्टी को एहि लोग आपस में बटवारा कर लेंगे.

कुछ निकम्मी समिति भी इस षड्यंत्र में सहभागी है. एहि समिति इन वक्ताओं के ऊपर पैसा खर्च करती है.

http://athishravikanth.blogspot.in/

हरिओम।
आतीश रविकांत, बंगलौर
सेल एवं व्हाट्सप्प: +91 9663978686
Email: athishravikanth@gmail.com

No comments:

Post a Comment